संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

गुरुवार, 24 अगस्त 2017

जैसी भी है मेरी है। ..

बरसो बाद कलम ने चलने की ख्वाइश जतायी 
धुंध  खयाल उमड़े रहे थे 
पर सोच से पहले ग़ुम  हो गए 
आज तो खुद ही हाथों में आ गयी 
लय   तान का मंच नहीं 
बस कुछ खलबली हुई लिखने के लिए 
एक बार जब शरू होत्ती तो दो चार खिंच जाते 
चाय की चुस्कियों के बीच न जाने कितने किस्से लिखे जाते 
आज हो या कल,कंप्यूटर हो कलम 
सोच और जोश वही उभर आता है 
बस एक ख्याल का तहलका है 
सोच तो कला है ,ढूंढो तो बाला है 
लिखो तो तनहा है,पढ़ो  तो चाह है 
एक ख्याल के बीच में उलझा हुआ जाल है 
कभी तो इससे माल है कभी यही बेताल 
रस  से भरी , कभी गम से तर 
 अपने, अपनों के ख्याल गुनगुनाती 
मन की चाह की गुथमगुथि में गुथी 
कभी कसमसाती कविता कभी कहानी  बन उतर जाती 
यह भी एक नेमत है कभी मिल जाती है 
कभी रूत कर बेचैन कर देती 
ऐसे ही यही भी पर जैसी भी है मेरी है। .. 
 



गुरुवार, 20 जुलाई 2017

किताबे US की लाइब्रेरी

मुझे यह किताबे US की लाइब्रेरी में पड़ने का मौका मिला बहुत ख़ुशी  मिली 




























रविवार, 2 जुलाई 2017

मेरी ज़मीन


कुछ याद  से में  जुदा होती नहीं
इस तरह मुह मोड़ के चले जाओगे कभी सोच न था
हमारी  दिवार  थे हर लम्हा बहुत याद आता है
हर मुश्किल हर  आपको  साथ पाया है
हमारी बहुत सी तकलीफ में  आपको पास पाया
बड़ा  सदमा है आपके  होने का
कभी सोचा न था
इतना सा  साथ होगा
बस यह सोचा न  था
हर लम्हा हर पल तू मेरे साथ है 
तेरे बिन में अधूरी हूँ 
तेरे बिना मेरी सास के मायने कुछ नहीं
 हर वक़्त तेरा एहसास है  तू मेरे पास है

मेरे हर कदम मेरी हर रफ़्तार में है तू
मेरी हर बात की गहरायी में तू
अगर कोई  तुझे याद करे एक मुस्कान में तू
जीवन का पाठ जो तूने पढ़ाया
कोई नहीं सीखा पाया
मेरे मन की गहरायी में तू
जहाँ जहाँ तू थी एक सुकून था आज भी है और कल भी रहेगा
मेरी नन्हीं  पारी तू जाना है बस सुखी रहना
तू सुख  की परछाईए  है और  में तेरी
 क्यों कैसे सब फिसल गया क्यों कैसे कब यही हो गया
में कठपुतली सी देखती रह गयी
मेरा दामन अधूरा रह गया
बड़े अरमानो से तेरा  महल सजाया था
आज खण्डार कर मुझे झकझोर गया
 मेरी ज़मीन  लेने वाले ने कभी  नहीं बतया में क्यों हु ?


तू क्यों नहीं  पाता ,तू  कहाँ है यह पाता है 
तेरे बिना मेरे पल में  अधूरे है
तेरी यादे मेरे लिए बहुत तोह नहीं
पर यही है जहाँ है खुश  रहे तू
यहॉ मेरी आरज़ू है यही मेरी तमन्ना है
प्यार बहुत बहुत प्यार
शुक्रिया मुझे माँ बनाएं के लिए 

Anushka....tale of life

It was a casual time of the morning she came to me walking n ask me  to take her godi
that was okay but than she get in my godi 
it was a tough time we are under doctor observation but she was on off want food 
she is getting dull n inactive . 
I have anxiety in my body but want to look balanced so not sharing
on 8 oct me n my husband decided to go for ultrasound which is left 
we went to our friends laboratory only
she was not okay ...but we are not able to judge what's wrong?
He suggested to go to the nearby pediatric we went there ...
he observe her sensorium is less 
and admit her
her heartbeat and  breathing rate was not normal by the night she was on ventilator n next dayshe sha has to go for ultrasound 
she went our all friends were there to visit us
i peak in the MRI room n found a big patch n feel it was nothing 
pediatric didi said do not worry nothing is there 
I was shivering n cry n not able to get where we are n where we can 

n news was broken to us she has 7 cm brain tumor 
we broke down 


....



शुक्रवार, 2 दिसंबर 2016

Tom n jerry of couple started
So the world should have enough laugh no matter they do same behind doors ... 



Deal become my deal n your deal hugged bugged relatives gets there teams 
Bitching backbiting 
strength become weakness 
beauty become beast 
The faith is convineance
Temper is specified 
Culprit is one 
Blame game begins 
Cheat, shatter, hurt ,pain ,agony depression is same 
No guilt ,no respect ,no love ,full lust 
Hate is must 
Hate in relation relatives n sight 
Anger,frustration n aloof of the world 
If u donot earn  ur gone 
Ur judged , insulted ,ruined but work 
Be the tag of being married not impotent not looser ...
Have a maid , anger spitter, kids to prove potency, one sided orgasum 
Bear the crap have a fight for relatives whom u rarely met ...effect ur kids 
Waste your time energy n money get ready for the next day with same thing find new topic 
Bribe to take away kids or home 
 Happy anniversary 

बुधवार, 30 नवंबर 2016

प्रश्नचिह्न

कुछ याद  से में  जुदा होती नहीं
इस तरह मुह मोड़ के चले जाओगे कभी सोच न था
हमारी  दिवार  थे हर लम्हा बहुत याद आता है
हर मुश्किल हर  आपको  साथ पाया है
हमारी बहुत सी तकलीफ में  आपको पास पाया
बड़ा  सदमा है आपके  होने का
कभी सोचा न था
इतना सा  साथ होगा
बस यह सोचा न  था

अर में फिर

थोड़ा थोड़ा छोटा छोटा मेरा सपना था
आज बिक्र हुआ एक  पन्ना है
बड़ी उम्मीद से घर में आये थे
आज तिनका तिनका बिखरा है
थोड़ा थोड़ा गम तो बदरदस्त भी था पर यह गम तो
न पी सकते है जी सकते है
ज़रा सोचा होता मेरे बारे में
क्यों इतना बेकार बना दिया

जीवन का कोई मतलब होता तो अच्छा होता
आज हर मोड़ पर पलटवार कर देते हो
क्या कर क्या सोचु क्या बनु
शायद एक प्रश्न चिन्ह है मेरा जीवन
जिसमे जब मोड़ पर रुकने लगती हु
 आगे खाई आ जाती है
 में फिर धकेल दी जाती हु
इतनी कठिन डगर  होगी सोचा था
 जीवन प्रश्नचिह्न  माँगा न था

मेरे हर निर्णय पर कभी में  प्रश्नचिह्न बन गयी
जब जवाब माँगा  तो  उत्तर में  प्रश्नचिह्न बना दी गयी
न्याय है या अन्याय ऊपर वाले से पूछो
में तो एक निर्णय हु जो  प्रश्नचिह्न की तरह घूमता है





गुरुवार, 24 नवंबर 2016

Perfect Road trip

For me the perfect road trip will be when my kids and husband also the other friends enjoy it to the fullest.I love to travel also drive but I have  limitation when my kids are there the weather , there holidays and company and health are the main consideration before planning a trip .But still my passion for travel is nonetheless but I have a big list always ready to travel. Most of my trip are planned after kids even a day before but before that I have many random trip too.Trust me the fun is same in both just the company matters a lot . Some time alone sometime with the company both are fun .
I have a so much of the love  the trip was from SFO to LA in  USA .We just decided to move a day before.We pack everything. It  was summer but weather was just awesome and perfect for drive. My son was 1 and half @that time .We do not have to stop @rest area so many time just 2 halts in the 6 hr drive is sufficient .

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.