संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

शुक्रवार, 12 अगस्त 2011

Vimal Mitra





विमल मित्र --बेहद संवेदनशील लेखक ......मैंने उनके निम्लिखित उपन्यास ,कहानी ,संस्मरण पढ़े और में बहुत खुश हु .....नारी की इनती अच्छी और गहरी परिभाषा से में अभिभूत हु ..कोई मर्द इतना अच्छे और बारीकी से औरत की विचारो की विवेचना कर सकताहै  .................... 


  • गवाह   नंबर  3-- सरयू निशिकांत ,श्रीकांत .जब वह खून कर देता है जिरह से पाता चलता है वह उसका देवर है 
  • सन्यासी -दिव्येंदु की सन्यास तक सत्य नन्द महाराज और चत्रागढ़ के कहानी /
  • परस्त्री - सुललित,आरती और मदुर गांगुली की कहानी
  • आज कल परसों - सुशांत ,पर्वी और लेखक इनका धोखा और गुमनामी /
  • काजल(हिंदी हिट फ्लिम ) - क़ज़ा दी ,अचरिया मुखर्जी इनके बीच का शक
  • सब जूठ है - सोहम जीवन गाथा अपनी पत्नी के मदद से ऊँचे पद पे आ जाता है पर उसकी बची शम्पा और पति खो जाता है /
  • गाडीत  जिंदगी का - तीन मंजिला मकान और तीन परिवार उनकी लड़ाई
  • कगार और फिसलन इन्दुलेखा ,अटलदा और कुंती की कहानी ..अटलदा जसे मेहनती इन्सान की ज़िन्दगी
  • बहरूपिया -अलग अलग कहानियां
  • भगवन रो रहा है -देवव्रत, मिनती
  • रंग बिरंगी दुनिया
  • अनेकरूप
  • पैसा परमेश्वर है
  • चौराहा
  • दायरे के बहार
  • यह नरदेह
  • बेगम मेरा विश्वास
  • मुझे याद है - मिस हुबलिकर कपूरचंद ने नौकरी दिलाई मिन्टन पर सदानंद पुल्स्कर और प्रेमपत्र
  • आखरी पन्ने पर देखिये -आमिर था सब सम्पति एक अंधी लड़की को सारी सम्पति देता है
  • फिर एक दिन -अलग अलग कहानियां
  • चलते चलते -mauritius ट्रिप
  • सुरसतिया - छतीसगढ़ जहाँ के लोग परा नमक रोग से पीड़ित रहते है ..छ्दुम पटेल और उसकी पत्नी  को यह रोग है वो तड़प तड़प कर मरती है ..
  • गुलजारी बाई - नवाब की बिल्ली १८ सदी की  उस बिल्ली से प्रेम और नै और मुमताज़ के कहानी
  • साहब बीवी और गुलाम (ही फिल्म )-
  • सही पते पर -- आज भी सुरपति राइ अपने को अमीरों में गिनते है .अपनी
  • न्याय अन्याय -केशव  बाबु की पत्नी न्र मकान बनवा कर मर गयी भाई वासु आवारा बाद में बड़ा आदमी बन गया / बेटी निर्मला पति काशीनाथ रह वो रहने लगे


2 टिप्‍पणियां:

अशोक बजाज ने कहा…

रक्षा बंधन की बधाई !

Ritu ने कहा…

dhanywad ashok ji ....aapko bhi bahut badhai ....

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.