संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

सोमवार, 31 मार्च 2014

प्रश्न

शुभ नवरात्र !! नारी कि आज उपसना होगी पर जो जीवित  साक्षात् नारी ही उसके संभल का उत्तराधिकारी कौन होगा? पिता ,पति या बच्चे।  इस सवाल ने मेरे जीवन मे हल हमेश माँगा है। आज भी यह मर्द निरुत्तर है। …………………। उन नारियों कि लिए जिन्होंने जीवन कि कठिन परिस्थिति  के बवाजूद अपना मुकाम हासिल किया। … नारी का देवी स्वरुप कैसे कोई स्वीकारेगा जब उसके सतीत्व का मान नहीं  है।

नारी कि साख सुधर जयेगी
नारी कि राख संभल जायेगी
शयद नारी का अस्तित्व
एक कविता कि पंक्ति बन कि रह  जायेगी
क्यों यह शोषण क्यों यह पीढ़ा भाग है नारी के लिखी ?

किस्से कहानी बहुत है जो सुना दिए जाते नारी के नाम पर
क्या कोई मर्द अपनी नारी कि पीढ़ा कभी पूछत  है करीब आ कर ?
उसकी हर पीढ़ क सबब  बन जाता है इठलात है

विरली नारी वही हुई जिसने मर्द कि बहुत मार  या प्यार सहा है
बाकी तो बस उनकी कहानी में अपना अक्स ढूंढती रहती है
कभी आँखों क नाम कोने में झांके दीवार  को आईना समझ लेती है
कभी इतना लीप -पूत  जाती ही कि आईना में अपना अस्तित्व खो देती है
कभी यह सीख खुद ले लेती है कभी  ज़माना सीखा ही देता है


शिकव का तो काम नहीं
अपनी चाहत कि पोटली
 कभी खुलती नहीं कभी खोली नहीं जाती
अनजान पतंग सी उड़ती फिरती
जिसकी हाथ आती अपनी समझ ली जाती


पता नहीं शांति का लेकिन
इस शांति कि कयास में चुप रह जाती
कभी चुप कर  दी जाती
पर उसके अलावा शन्ति सब को मिल जाती

नारी कि सब रूप को ताने  देते \
क्या कभी उसके मन को कोई पढ़ पाता
तर्क़ कुतर्क़ छननी करदेते
नोचने कि आदत में नहीं ही कोई पीछे

आज सब करेंगे हवन
नये बीज बोएंगे
बच्ची के पैर धो कर कल उससे अपाहिज कर देंगे
क्या सच में यह माँ कि सच्ची भक्ति है ?
की सच में आप यह स्वीकारेंगी ?

मेरे नहीं यह सबके प्रश्न है। …
जवाब कि तलाश में भटक रहे है
इस कवयत्री से उसकी तक
बस अंकित होते  ही मन पर लगते है। ................







गुरुवार, 27 मार्च 2014

Pain

¡Of losing something precious for you (same as chocolate love of a child and child lost it )
¡It is forever  feeling may be hide with time but at times get it then it felt like it has happen a day before
¡You wann to be alone
¡You have your persuasion to be with the hopes
¡Pain never hidden one can hide it smartly but can be soon felt by the other
¡
s you are
ž

मंगलवार, 25 मार्च 2014

Life

¨A chance GOD give to play act and find other role
¨To be lived and loved
¨Hope to define the soul
¨Do deeds and get result accordingly
¨Feel the importance of balance in life (good time bad time all in proportion )

गुरुवार, 13 मार्च 2014

I discover it ..


हर सफ़र कुछ कहता है ,मेरा यह सफ़र बहुत  कुछ कहता है
 http://www.youtube.com/watch?v=ixbLMsVlpes
for loved once I can go any far ---first time travel with baby  also first time international travel alone ..

Such a lovely contest it reminds me of one thing only I was in US and my son was born no one is able to make it there .I went through  a tough postpartum.all went well but when I did all the rituals ,but there is a something emotional that even having so many members we r doing it like that ..

जिससे करना है वो कहीं से भी कर ही देगा।
My son was lucky that he has great grand parents too I want him to be blessed by them.  so decided to travel  with my son as dear husband have no holiday. Besides knowing travel is going to be tough I decide to travel 24 hr journey with 4hr halt in london. My son was  good baby but not in the flight he make me so famous everyone knew me when I landed.I felt crying , tired n embarrassed. Despite of doing all the preparations I was able to discover the patience level in me  ..:).

As soon as I saw the family members everything gone away and feel "I Did IT"
When I met the family n make my son visit his great grand parents and grandparents I feel my work is done.They still love me for that :)...
http://www.britishairways.com/en-in/offers/flights/get-closer?src=indiblogger&DM1_Mkt=India&DM1_Channel=&DM1_Campaign=INDIAQ1FEBWINNINGHEARTS&DM1_Site=Blog&utm_source=Blog&utm_medium=&utm_campaign=INDIAQ1FEBWINNINGHEARTS
Now ,everyone knows I can go any far to
Today I am laughing and feel pity for the passengers. I decide I will never tell or irritate if any kid is crying ....every journey persist the memories ...which continues until the last journey ..may we ll have many more ..


मंगलवार, 4 मार्च 2014

Acceptance

Make you near to the motto
Easier to work in a situation
Optimistic thought
Making other feel about your strength
You feel full of energy
Things and life become easier
Development of zest towards life

शनिवार, 1 मार्च 2014

Happiness

žAlways for others
žLive it fullest 
žGive break to all
žFeel it by heart
žRemember the worst time
žNo space to proud
žInvolve everyone
žBe natural and same as you are

ž
इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.