संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

शनिवार, 8 मई 2010

माँ मेरी माँ

मेरी माँ मेरा गर्व मेरा गुरुर ....में बहुत खुश किस्मत हु माँ --की आप  मुझे मिली ,मैंने  हर बात आपकी मानी और अपनी हर बात आप को बतायी ,कभी कभी आपसे  तकरार भी की गुस्सा भी किया पर दिल से आपका सम्मान किया आपको  प्यार किया आपके स्पर्श से अभिभूत   हुई हु .आज आपसे बहुत दूर पर आज बहुत करीब हो गयी हु . भगवान् का बहुत बहुत धन्यवाद की आप जैसी  माँ दी मुझे .............


 अंगुली पकड़ने के साथ चलाया है
 मुझे कभी लोरी गा के सुलाया है
मेरे खाने के लिए घंटो इंतज़ार किया है
मेरी  पसंद  का  खाना  बनाया मेरा मन रखने के लिए
अच्छी सीख देके मुझे बड़ा किया
अपनी नीद खराब कर मुझे पढाया
एक अच्छा इन्सान बनाने और नारी की मर्यादा को समझया
अच्छी सोच और संस्कारो से मेरे विचारो को सीचा 
आज की और कल की नारी के अच्छे गुण अपनाने को बोला
इतना प्यार और दुलार दिया
हमेशा हर मुश्किल  और नामुमकिन  काम को कर दिखाया
मेरे मन के डर दूर भगाया
हमेशा हर बात का डर माँ को दिखाया , कभी चिल्लाये  कभी गुसये 
कभी माँ का प्यार कम समझने की भूल की
ऐसी है मेरी माँ मेरी और मेरी माँ ........


माँ के सपर्श से बुद्पे में भी बच्चे बन जाते है
माँ के हर वचन सच लगते है जब खुद माँ बन जाते है
एक माँ को और भी ज़यादा प्यार और सम्मान करने लगते है

माँ Mother's day के अवसर पर आपके लिए कुछ  दिल से निकले  शब्द  शत शत नमन

6 टिप्‍पणियां:

Mithilesh dubey ने कहा…

भावपूर्ण रचना लगी आपकी । आपको मातृ दिवस की बहुत-बहुत बधाई ।

दिलीप ने कहा…

bahut sundar...मातृ दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ

अजय कुमार ने कहा…

संसार की समस्त माताओं को नमन

Gourav Agrawal ने कहा…

bahut sundar :)

मदर्स डे के शुभ अवसर पर ...... टाइम मशीन से यात्रा करने के लिए.... इस लिंक पर जाएँ :
http://my2010ideas.blogspot.com/2010/05/blog-post.html

M VERMA ने कहा…

माँ को नमन

कुमार राधारमण ने कहा…

मेरी दुनिया है मां तेरे आंचल में.............

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.