बुधवार, 10 फ़रवरी 2010

प्यार आता है .

आसान  नहीं है तुमसे दूर रहना
कहीं यह मन लग नहीं पाता
कोई लुभा नहीं पाता
एक लम्हा  सदी  सा  लगता है
 हर जगह तुम्हारी  महक है
हर काम तुम्हारी पसंद का होता है
तुम पर  गर्व होता है
अपनी पसंद पर रोब आता है
बिजली सी सिरहन दोड़ जाती है
एक अनोखा एहसास होता है
तुम पर बहुत प्यार आता है .
जालिम नौकरी ने दूर कर दिया
तुम्हारी   बाहों   में छिपने  को जी चाहता है /
एक टिप्पणी भेजें