संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

शनिवार, 16 जनवरी 2010

अच्छी उसकी कमाई हो कोई बुरी आदत न पाई हो
घर की कोई जिम्मेवारी न हो
मौज  मस्ती की न मनाई हो
घर के खाने की लत न पाई हो
बच्चो को आया के पास रखने की न मनाई हो
किसी  पराई लड़की पे आंख न उठाई हो
 किट्टी पार्टी और घुमने की आज़ादी हो
जल्दी से आ जाओ कलयुग में ऐसे  लडको की ही सगाई हो

कोई टिप्पणी नहीं:

इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.